News Flash: समाचार फ़्लैश:
  • भूतपूर्व सैनिक कल्याण बोर्ड का पुनर्गठन
  • राज्यपाल से कर्नल बी.एस. नगियाल की भेंट
  • मुख्यमंत्री ने पांवटा साहिब में 16.34 करोड़ की परियोजनाओं के किए लोकापर्ण
  • मुख्यमंत्री ने रखी राजकीय महाविद्यालय भरली की आधारशिला
  • राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा 7 मई को
  • प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को गत चार वर्षों में पावर स्प्रेयर, टिल्लर इत्यादि उपकरणों पर 2125 लाख रुपये का उपदान प्रदान
View Allसभी देखें
 Latest News
 नवीनतम समाचार
  • मुख्यमंत्री ने रखी राजकीय महाविद्यालय भरली की आधारशिला

    ·    पीएचसी राजपुर को सीएचसी में स्तरोन्नत करने की घोषणा

    मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने आज उत्तराखंड के सीमावर्ती सिरमौर जिले के दुर्गम क्षेत्र ट्रांसगिरी के भरली (आंजभोज) में राजकीय महाविद्यालय की आधारशिला रखने के उपरान्त कहा कि महाविद्यालय का नाम राजकीय महाविद्यालय आंजभोज (भरली) रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्राध्यापकों के लिए कालेज के समीप आवासीय सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी।

    उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र राजपुर को 30 बिस्तरों की सुविधा सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग के राजपुर उपमण्डल का पुनर्गठन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, सरकार क्षेत्र में सिंचाई तथा पेयजल की सुविधा प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है और निश्चित रूप से इस समस्या के शीघ्र समाधान के लिए आवश्यक पग उठाएगी। उन्होंने कहा कि राजपुर में उप-तहसील खोलने की मांग पर सरकार विचार कर रही है।

    मुख्यमंत्री आज पांवटा साहिब तहसील के भरली में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

    श्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह कभी भी भाजपा की तरह आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं करते हैं और न ही किसी की बुराई करते हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि विचारधारा का अलग होना स्वभावित है, लेकिन आलोचना स्वस्थ होनी चाहिए।

    उन्होंने अपरोक्ष तौर पर जिले के विपक्षी विधायकों की ओर संकेत करते हुए उन्होंने कहा कि क्षेत्र के कुछ लोगों को गुमराह और बाहरी व्यक्ति द्वारा सम्मोहित किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि लोगों को अब तक एहसास हो गया होगा कि केवल कांग्रेस सरकार ही विकास को आगे बढ़ा सकती है।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में आज महाविद्यालयों की संख्या बढ़कर 119 तक पहुंच गई है और वर्तमान सरकार ने शिक्षण संस्थान खोलने में कभी कोई भेदभाव नहीं किया, चाहे क्षेत्र भाजपा विधायकों से संबंधित क्यों न हो। उन्होंने कहा कि सिरमौर जिले में सभी 10 महाविद्यालय कांग्रेस सरकारों द्वारा खोले गए हैं।

    हिमाचली टोपियों के अलग-अलग रंगों पर उन्होंने कहा कि राज्य भाजपा में उनके भी अनेक मित्र हैं, जो लाल हिमाचली टोपी पहनते हैं और वोट कांग्रेस को करते हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचली टोपियों पर राजनीति भाजपा ने शुरू की थी। उन्होंने कहा कि उन्होंने जब मुख्यमंत्री पद की शपथ ली तो उस समय लाल टोपी पहनी थी। उन्होंने कहा कि भाजपा ने टोपी की राजनीति पर राज्य के लोगों तथा समुदायों के बीच सांस्कृतिक विभाजन करने की कोशिश की है।

    मुख्यमंत्री ने जाति, धर्म तथा क्षेत्र के नाम पर नारे लगाने वालों को भी आगाह किया। उन्होंने कहा कि उनके लिए समुचा राज्य एक है और राज्य को नई ऊंचाईयों तक ले जाने के लिए हम सब को एक जुट प्रयास करने हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को क्षेत्रीय आधार पर बांटना उचित नहीं है और कुछ तथाकथित नेता सुर्खियों में बने रहने के लिए ऐसा करते हैं, क्योंकि भाजपा ने सभी चुनाव क्षेत्र व जाति के आधार पर लड़े हैं।

    मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर हिमाचल एक हैका नारा दिया और उपस्थित लोगों ने भी इसे दोहराया। उन्होंने कहा कि यह लोगों का दायित्व बनता है कि हिमाचल प्रदेश को देश भर में विकास के क्षेत्र में पहाड़ी राज्यों का आदर्श बनाएं।

    विधायक किरणेश जंग ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा मुख्यमंत्री का दूरदराज क्षेत्र में महाविद्यालय खोलने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सिरमौर जिला के लोग मुख्यमंत्री का धौलाकुआं में भारतीय प्रबन्धन संस्थान तथा नाहन में मेडिकल कॉलेज के अतिरिक्त अन्य विभिन्न विकासात्मक कार्यों के लिए हमेशा ही ऋणी रहेंगे। उन्होंने क्षेत्र में हुए अन्य विकासात्मक कार्यों की भी जानकारी दी।

    रोजगार सृजन एवं रिसोर्स मोबिलाईजेशन अध्यक्ष तथा विभाजन प्रक्रिया में पांवटा साहिब में विलय होने से पूर्व क्षेत्र के विधायक रह चुके श्री हर्ष वर्धन ने इस अवसर पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि गत चार वर्षों के दौरान जिले में एक उपमंडलाधिकारी कार्यालय शिलाई में व रेणुका, नौहराधार और कमरउ में तीन तहसीलों, नारग, नावरी, तथा हरिपुरधार में उप-तहसीलों और सिरमौर को तीन कॉलेज उपलब्ध करवाने के लिए जिले के लोग हमेशा मुख्यमंत्री के ऋणी रहेंगे। उन्होंने स्थानीय विधायक द्वारा रखी गई मांगों का समर्थन किया।

    क्षेत्र के लोगों ने पूरे आंजभोज क्षेत्र के लिए टोंस तथा पीरूवा अखाड़ा से दो सिंचाई योजनाएं सृजित करने का आग्रह किया ताकि क्षेत्र की सिंचाई आवश्यकताओं को पूरा किया जा सके। उन्होंने इसके अतिरिक्त अम्बोआ को औद्योगिक क्षेत्र घोषित करने  का भी आग्रह किया जिसके लिए 1400 बीघे जमीन उपलब्ध है।

    मुख्य संसदीय सचिव श्री विनय कुमार, राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री जी.आर. मुसाफिर, हिमफेड के अध्यक्ष श्री अजय बहादुर, जिला कांग्रेस समिति के अध्यक्ष श्री अजय सोलंकी, जिला परिषद के अध्यक्ष श्री दिलीप चौहान, स्थानीय कांग्रेस नेता जग्गीराम, जिले के वरिष्ठ अधिकारी व क्षेत्र के अन्य गणमान्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

                                                                    .0.

    Read More
  • मुख्यमंत्री ने पांवटा साहिब में 16.34 करोड़ की परियोजनाओं के किए लोकापर्ण

    मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने सिरमौर जिला के अपने दौरे के अंतिम दिन आज पांवटा साहिब विधानसभा क्षेत्र में 4.86 करोड़ रुपये की लागत से बद्रीपुर में निर्मित 33/11 केवी के विद्युत उप केन्द्र, 94 लाख रुपये की लागत से निर्मित कुंजा मेटालियन जलापूर्ति योजना का लोकार्पण किया। उन्होंने रामपुर घाट में 3.76 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 13/11 केवी के नियंत्रित विद्युत उप-केन्द्र, 1.78 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित तारूवाला पेयजल आपूर्ति योजना का भी लोकार्पण किया।

    मुख्यमंत्री ने इस दौरान भरली में महाविद्यालय भवन की आधारशिला रखी जिसके लिए आरम्भ में पांच करोड़ रुपये की राशि का प्रावधान किया गया है।

    मुख्यमंत्री ने सिरमौर जिला के तीन दिवसीय दौरे के दौरान 60.12 करोड़ रुपये की विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के लोकार्पण किए।  

     .0.

    Read More
  • राज्यपाल से कर्नल बी.एस. नगियाल की भेंट

    राज्यपाल आचार्य देवव्रत से आज यहां राजभवन में 133 इन्फेंटरी बटालियन (प्रादेशिक सेना) पर्यावरण (डोगरा) के कमांडर अधिकारी कर्नल बी.एस. नगियाल ने अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित भेंट की। उन्होंने राज्यपाल को गत 10 वर्षों के दौरान विकृत भूमि पर वनीकरण में यूनिट की उपलब्धियों के बारे अवगत करवाया। उन्होंने राज्यपाल को इकाई का स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।

    राज्यपाल ने राज्य विशेषकर सतलुज तथा ब्यास नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में हरित आवरण में सुधार के लिए प्रादेशिक सेना के प्रयासों की सराहना की और राज्य में यूनिट की गतिविधियों व उपलब्धियों पर सन्तोष जाहिर किया।

    आचार्य देवव्रत ने कहा कि बटालियन इस वर्ष अपनी स्थापना की 10वीं वर्षगांठ मना रही है और 10 वर्षों में 32 लाख से अधिक पौधों का रोपण कर एक महान कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की गतिविधियां राज्य के हरित आवरण में वृद्धि तथा पारिस्थितिकीय गतिविधियों को प्रोत्साहित करने में मद्दगार होंगी।

    उन्होंने कहा कि बहुमूल्य पर्यावरण को बचाना अति महत्वपूर्ण है और प्रत्येक को पर्यावरण संबंधी गतिविधियों से जोड़ने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि विशेषकर युवाओं को इस प्रकार के अभियान से जोड़ना चाहिए, ताकि हरे-भरे विश्व की परिकल्पना को पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि इससे देश के युवाओं को उन्हें खाली समय में सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त करने का एक बेहतर अवसर प्रदान होता है, ताकि राष्ट्रीय आपातकाल के समय देश की रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए उनका आह्वान किया जा सके।

    राज्यपाल ने उनके सिद्धांत वीर हिमाचल एण्ड ग्रीन हिमाचलकी सराहना की और भविष्य में पर्यावरण से जुड़े कार्यों को जारी रखने की आशा जताई तथा अधिकारियों से युवाओं को उनके इस मिशन में जोड़ने को कहा।

    कर्नल नगियाल ने राज्यपाल को अवगत करवाया कि यूनिट वनीकरण के कार्यों के अलावा भू-संरक्षण, चैक डैमों का निर्माण, वन महोत्सवों का आयोजन, स्थानीय लोगों में पर्यावरणीय जागरूकता उत्पन्न करना, जिसके परिणामस्वरूप पेड़ों के कटान में रोक तथा वनों में आगजनी की घटनाओं पर अंकुश लगाने जैसी गतिविधियां में भी सक्रिय रूप से भाग ले रही हैं।

    उन्होंने अवगत करवाया कि बटालियन ने 32 लाख पौधे लगाकर 2994 हेक्टेयर बंजर भूमि को कवर किया है और पौधों की जीवतंता 65 से 70 प्रतिशत रही है।

    ले. कर्नल रणधावा सेकेंड-इन-कमांड तथा मेजर जितेंद्र एडजुटेंट सहित बटालियन के अन्य अधिकारी भी कमांडिंग अधिकारी के साथ उपस्थित थे।

                                                    .0.

    Read More
  • मुख्यमंत्री ने सिरमौर जिला के रामपुर में कौंथरी खाला पुल की रखी आधारशिला

    मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कौंथरी खाला पर 3.58 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पुल के शिलान्यास के उपरान्त नाहन विधानसभा क्षेत्र के रामपुर भारापुर में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि चुनावों को समीप आते देख बहुत से लोग आगे आ जाते हैं और लोगों को धर्म, जाति व क्षेत्र के नाम पर बांटने की कोशिश करते हैं, जो राज्य के धातक है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग लोगों को आर्थिक प्रलोभन देकर उन्हें लुभाने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा कि हमें लोगों को जाति, रंग व धर्म के नाम पर बांटने से बचना चाहिए और मेरा अनुभव यह है कि ऐसे नेता जो विभाजनकारी नीतियों पर विश्वास करते हैं, वे निकम्में राजनीतिज्ञ हैं।

    उन्होंने कहा कि पांवटा साहिब के समीप होने के कारण यह क्षेत्र आर्थिक रूप से सुदृढ़ हो रहा है। क्षेत्र के सभी धर्मों के लोगों के बीच रिश्ते सौहार्दपूर्ण रहे हैं और लोग मिलजुल कर रहते हैं। हमारा उद्देश्य भाईचारे की भावना को और मजबूत करना है। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र खेतीबाड़ी के लिए उत्तम है और बाढ़ से निपटने के लिए यह आवश्यक है कि क्षेत्र के नदी नालों का तटीकरण किया जाए। नाहन विधानसभा क्षेत्र के पावंटा से लगते क्षेत्रों के मौसमी नदी नालों के तटीकरण की आवश्यकता है, ताकि इनका पानी सिंचाई के लिए उपयोग में लाया जा सके।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने आज क्षेत्र में 29.10 करोड़ रुपये के पुलों की आधारशिलाएं रखीं और इन पुलों के लिए पहले ही वित्तीय प्रावधान किया गया है।

    इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने नाहन विधानसभा क्षेत्र के दुर्गम क्षेत्र पालियों में भी एक जनसभा को सम्बोधित किया और आश्वासन दिया कि त्रिलोकपुर में उप-तहसील खोलने पर सरकार सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी।

    हिमफैड के अध्यक्ष अजय बहादुर तथा जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय सोलंकी ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और उन्हें सम्मानित किया।

    मुख्य संसदीय सचिव विनय कुमार, विधायक किरनेश जंग, रोजगार सृजन एवं संसाधन सृजन के अध्यक्ष हर्षवर्धन चौहान, पूर्व विधायक कुश परमार, हिमाचल प्रदेश राज्य समाज कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष सत्य परमार, जिला परिषद अध्यक्ष दिलीप चौहान व कुंजना सिंह भी जिला के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित इस अवसर पर उपस्थित थे।

    .0.

    Read More
  • मुख्यमंत्री ने रखी 37 करोड़ की परियोजनाओं की आधारशिलाएं

    29.08 करोड़ के सात पुलों की भी रखी आधरशिलाएं

    मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने आज नाहन विधानसभा क्षेत्र के अपने प्रवास के दूसरे दिन 36.73 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखी।

    उन्होंने नाहन में 6.60 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले इंडोर स्टेडियम, मारकंडा नदी पर 9.26 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले खादरी पुल तथा 3.64 करोड़ रुपये की लागत से खारी-का-खाला पर पुल की आधारशिलाएं रखीं।

    मुख्यमंत्री ने भूदरियों में 2.47 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पुल, पालियों में रूण नदी पर 3.83 करोड़ रुपये के पुल, मारकंडा नदी पर ढिमकी में 3.15 करोड़ रुपये के पुल, रामपुर में कौंथरी खाला पर 3.58 करोड़ रुपये के पुल, मंडी खाला पर 3.15 करोड़ रुपये के पुल तथा डोईंवाला से खेरी गांव के लिए 1.05 करोड रुपये की लागत से पक्की सड़क के लिए भी आधारशिलाएं रखीं।

    -0-

    Read More
  • मुख्यमंत्री ने 3.64 करोड खारी-का-खाला पुल की रखी आधारशिला

    ·         नोटबन्दी ने मुसीबत में डाला देश

    ·         भेड़ों को मिला आयुर्वेदिक औषधालय

    मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने आज सिरमौर जिला के नाहन विधानसभा क्षेत्र में खारी-का-खाला के ऊपर 3.64 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पुल की आधारशिला रखी। इस अवसर पर उन्होंने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किए गए नोटबन्दी के फैसले से देश सहित प्रदेश की आर्थिक प्रगति प्रभावित हई है। उन्होंने कहा कि यह देश के इतिहास में काले अध्याय के रूप में जाना जाएगा, जिससे लोग अपना ही पैसा बैंकों से निकालने के लिए प्रतिबन्धित हुए। इस फैसले से जहां देश की आर्थिकी को भारी झटका लगा वहीं राज्य के किसानों व बागवानों को भी भारी कठिनाई का सामना करना पड़ा।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़े नोटों की बन्दी को लागू करने से पूर्व आवश्यक प्रबन्ध किए जाने चाहिए थे, ताकि किसानों, छोटे व्यापारियों व खून-पसीना बहाकर दो वक्त की रोटी अर्जित करने वाले दिहाड़ीदारों के हित सुरक्षित रह पाते।

    श्री वीरभद्र सिंह ने हरियाणा राज्य के साथ लगते जिले के दूरदराज गांव भेड़ों में आयुर्वेदिक औषधालय खोलने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त, उन्होंने राजकीय माध्यमिक पाठशाला ढाकवाला-खेरवाला को उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने तीन बोरवैल स्थापित करने की भी घोषणाएं की। उन्होंने देवनी लाल पीपल सड़क को पक्का करने की घोषणा की और इसके लिए 16 लाख रुपये स्वीकृत किए। उन्होंने विक्रम बाग-मंधेरवा और डाढूवाला के लिए पैदल पुल के निर्माण की भी घोषणा की।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि नाबार्ड द्वारा खजुरना-बिक्रमबाग-कालाअम्ब वाया सुकेती-त्रिलोकपुर 21 किलोमीटर सड़क निर्माण की स्वीकृति प्रदान की।

    श्री वीरभद्र सिंह ने मारकंडा नदी पर पुल के निर्माण कार्य को एक वर्ष के भीतर पूरा करने के निर्देश दिए।

    मुख्यमंत्री ने गत चार वर्षों के दौरान पूरी की गई विकासात्मक परियोजनाओं तथा निर्माणाधीन परियोजनाओं पर भी प्रकाश डाला।

    हिमफेड के अध्यक्ष श्री अजय बहादुर सिंह ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मौजूदा विधायक तथा भाजपा सरकारों द्वारा क्षेत्र की पूरी तरह से अनदेखी की गई है। उन्होंने मुख्यमंत्री से सिंबलवाला, ग्राम पंचायत बिक्रम बाग पंचायत के खैरवाला तथा ग्राम पंचायत देवनी के खादरी गांव में पेयजल के लिए बोरवेल की घोषणा करने का आग्रह किया। उन्होंने नाहन-बिक्रम बाग बस सेवा को काला अम्ब वायां सुकैती तक बढ़ाने और बिक्रम बाग-मंधेरवा तथा ढाढूवाला पैदल पुल तथा दांडीपुर के लिए लगभग एक किलोमीटर सड़क को लोक निर्माण विभाग को सौंपने का आग्रह किया। उन्होंने कोंथरो में पेयजल सुविधा तथा भेड़ों में आयुर्वेदिक औषधालय का भी आग्रह किया।

    जिला कांग्रेस समिति के अध्यक्ष श्री अजय सोलंकी ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए प्रदेश में हुए अभूतपूर्व विकास के लिए उनका आभार प्रकट किया तथा लोगों से आगामी विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को अपना सहयोग करने का आग्रह किया। उन्होंने राजकीय माध्यमिक पाठशाला ढाकवाला-खेरवाला को उच्च पाठशाला में स्तरोन्नत करने के साथ-साथ आंतरिक क्षेत्रों विशेषकर देवनी-लाल पीपल के लिए बस सेवाएं तथा सम्बन्धित सड़क को पक्का करने का भी आग्रह किया। 

    मुख्य संसदीय सचिव श्री विनय कुमार, विधायक श्री किरनेश जंग, रोजगार सृजन एवं संसाधन सृजन के अध्यक्ष श्री हर्षवर्धन चौहान, पूर्व विधायक श्री कुश परमार, हिमाचल प्रदेश राज्य समाज कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री सत्य परमार, जिला परिषद अध्यक्ष श्री दिलीप चौहान भी जिला के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित इस अवसर पर उपस्थित थे।

    .0.

    Read More
Cabinet DecisionsView All कैबिनेट के फैसले सभी देखें
Features View All फ़ीचर सभी देखें
Flagship SchemesView Allफ्लैगशिप कार्यक्रम सभी देखें

Latest Video FootageView Allनवीनतम वीडियो फुटेजसभी देखें
Departments Productions View All विभाग प्रोडक्शंससभी देखें
Latest News PhotographsView Allनवीनतम समाचार फोटोसभी देखें
Digital Photo LibraryView All डिजिटल फोटो गैलरीसभी देखें
You Are Visitor No.हमारी वेबसाइट में कुल आगंतुकों 3485884