News Flash: समाचार फ़्लैश:
  • सरकार ने उठाए पीडीएस प्रणाली पर निगरानी रखने के लिए प्रभावी कदम : मुख्यमंत्री
  • मुख्यमंत्री ने किया पत्रकार के निधन पर शोक व्यक्त
  • राज्यपाल से पशु पालन मंत्री की भेंट
  • लोगों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान में बैंकों की महत्वपूर्ण भूमिकाःमुख्यमंत्री
  • मुख्यमंत्री से पांगी भाजपा मण्डल के प्रतिनिधिमण्डल की भेंट
  • मुख्यमंत्री ने किए करोड़ों रुपये की लोकार्पण व शिलान्यास
View Allसभी देखें
 Latest News
 नवीनतम समाचार
  • मुख्यमंत्री ने किए करोड़ों रुपये की लोकार्पण व शिलान्यास

    ऽकोटखाई उत्सव को जिला स्तरीय दर्जाः मुख्यमंत्री

    राज्य सरकार प्रदेश की पर्यटन क्षमता का पूर्ण दोहन करके हिमाचल प्रदेश को विश्व का पसन्दीदा पर्यटन गंतव्य बनाने के लिए वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर आज शिमला जिले के कोटखाई में ‘कोटखाई उत्सव’ के समापन समारोह के अवसर पर सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेले व त्यौहार हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के अभिन्न अंग हैं और हमें अपनी संस्कृति पर गर्व होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि विपक्ष के कुछ नेता राज्य की संस्कृति और परम्पराओं के प्रति उनके स्नेह और सम्मान को पचा नहीं पा रहे हैं, जो संस्कृति और रीति-रिवाजों को लेकर उनकी अज्ञानता को दर्शाता है। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सप्ताह में तीन दिनों के लिए शिमला से चण्डीगढ़ तथा वापिस हैली टैक्सी सेवा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार का हैलीकॉप्टर उपलब्ध करवाया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सैलानियों की सुविधा के लिए राज्य सरकार का हैलीकॉप्टर प्रदान करने वाला देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि सरकार सैलानियों की सुविधा के लिए राज्य के अन्य भागों के लिए भी हैली टैक्सी सेवा शुरू करने के प्रयास कर रही है।

    श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने वर्तमान पांच महीनों के कार्यकाल के दौरान राज्य के लोगों की आपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए कड़ी मेहनत की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अनेक कल्याणकारी तथा विकासात्मक योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दरियादिली के कारण पांच माह के छोटे से कार्यकाल के दौरान केन्द्र सरकार से 4365 करोड़ रुपये की परियोजनाएं तथा योजनाएं स्वीकृत करवाने में सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पूर्व सरकार राज्य के लिए एक मात्र विकास परियोजना की स्वीकृति तक करवाने में असफल रही। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने प्रत्येक कालेज के लिए मात्र एक लाख रुपये के प्रावधान के साथ 16 महाविद्यालय खोलने की घोषणाएं की। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि पेयजल आपूर्ति योजनाओं के लिए ब्रिक्स के अन्तर्गत विधानसभा क्षेत्र की 27 पंचायतों के लिए 55 करोड़ रुपये की परियोजनाएं तैयार की गई हैं। उन्होंने हाटकोटी मन्दिर परिसर के सौन्दर्यीकरण के लिए 5 करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्होंने कोटखाई के लिए लोक निर्माण विभाग का मण्डल, कोटखाई के लिए महाविद्यालय, कोटखाई विकास भवन के लिए एक करोड़ रुपये, सरस्वती नगर महाविद्यालय में चार विषयों में स्नातकोत्तर कक्षाएं आरम्भ करने, अटल बिहारी वाजपेयी इंजीनियरिंग कालेज प्रगति नगर में पाठ्यक्रम बढ़ाने, सरस्वती नगर में मल निकासी योजना के लिए 4 करोड़ रुपये तथा नावर क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति में सुधार के लिए 2.11 करोड़ रुपये की घोषणाएं की। 

    मुख्यमंत्री ने कोटखाई उत्सव को जिला स्तरीय दर्जा प्रदान करने की घोषणा की। 

    श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि उन्होंने सुनिश्चित बनाया है कि विकास के मामले में राज्य के प्रत्येक क्षेत्र को इसका वाजिब हिस्सा मिले। उन्होंने कहा कि इस छोटी सी अवधि के दौरान उन्होंने क्षेत्रों के विकास के लिए 45 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि देश को प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी का मिलना वरदान है, क्योंकि भारत ‘विश्व नेता’ के रूप में उभर रहा है।

    इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सरस्वती नगर के मौजूदा खेल मैदान में अन्य सम्बद्ध कार्यों सहित 400 मीटर सिंथेटिक ट्रैक की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि टै्रक का निर्माण 12.50 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा तथा धर्मशाला और बिलासपुर के बाद राज्य का यह तीसरा िंसंथेटिक ट्रैक होगा। उन्होंने कहा कि यह ट्रैक क्षेत्र के युवाओं को विश्व स्तर की खेल सुविधाएं प्रदान करेगा।

    मुख्यमंत्री ने खड्डा पत्थर स्थित गिरी गंगा रिसार्ट में 77 लाख रुपये की लागत से निर्मित पर्यटन स्वागत केन्द्र एवं टै्रकिंग होस्टल तथा पार्किंग का लोकार्पण किया। इस परिसर में तीन डब्बल बैड रूम, 200 लोगों की क्षमता का बैंकट हॉल, पर्यटन सूचना कार्यालय इत्यादि हैं। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र में पर्यटन विकास को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में पर्यटन की आपार संभावना है और राज्य सरकार इसके दोहन के लिए वचनबद्ध है।

    श्री जय राम ठाकुर ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मण्डल जुब्बल के अन्तर्गत  6.28 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना दरकोटी-गवारग का ‘भूमि पूजन’ किया। इस योजना से क्षेत्र की 4 पंचायतों के 21 गावों को सिंचाई सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। उन्होंने 2.53 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले बस अड्डा कोटखाई का भूमि पूजन किया। 

    मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सोराब तथा गौरव गांगटा को सम्मानित किया।

    इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने प्रगति नगर में 9.88 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले श्री अटल बिहारी वाजपेयी राजकीय इंजीनियरिंग एवं तकनीकी संस्थान के सभागार की आधारशिला रखी। उन्होंने 4.26 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले महिला छात्रावास भवन तथा संस्थान में 7.04 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ग्रामीण आजीविका एवं उत्पादन केन्द्र की भी आधारशिलाएं रखीं।

    इससे पूर्व, मुख्यमंत्री व उनकी धर्मपत्नी डा. साधना ठाकुर ने हाटकोटी स्थित प्रसिद्ध श्री हाटेश्वरी मन्दिर में पूजा अर्चना की। 

    मुख्यमंत्री का सरस्वती नगर पहुंचने तथा कोटखाई व प्रगति नगर के बीच विभिन्न स्थानों पर लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। क्षेत्र के विभिन्न सांस्कृतिक, सामाजिक तथा राजनीतिक संगठनों ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का अभिनन्दन किया।

    उद्योग व तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने राज्य के विकास को नई दिशा प्रदान की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रस्तुत किए गए पहले बजट में 30 नई योजनाएं हैं, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि राज्य के युवाओं को रोजगार तथा स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए राज्य में मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना शुरू की गई है।

    स्थानीय विधायक श्री नरेन्द्र बरागटा ने अपने गृह निर्वाचन क्षेत्र में पधारने पर मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में विकास के मामले में क्षेत्र की अनदेखी हुई है।

    उन्होंने क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सिंथैटिक टै्रक  क्षेत्र के युवाओं को अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने के लिए वरदान साबित होगा, जिससे वे अपने घर के समीप अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं प्राप्त कर सकेंगे।

    उन्न्होंने कहा कि  मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में प्रदेश देश का सबसे विकसित राज्य बनने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कार्यभार संभालते ही वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने के लिए बिना किसी आय सीमा के आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया है। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से 1.30 लाख से भी अधिक वृद्धजनों को लाभ मिला है। उन्होंने कार्यभार संभालने के उपरांत ठियोग-हाटकोटी-रेहड़ू सड़क के निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए 7 करोड़ रुपये प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि इस राशि से सेब उत्पादन वाले क्षेत्र की जीवन रेखा कहलाने वाली यह मुख्य सड़क पूर्ण होने की कगार पर है। उन्होंने क्षेत्र की अन्य मांगों बारे भी विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने मुख्यमंत्री से पर्यटन की दृष्टि से क्षेत्र के विकास की संभावनाओं को तलाशने का भी आग्रह किया।

    सांसद प्रो. वीरेन्द्र कश्यप ने कोटखाई उत्सव के अवसर पर लोगों को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर के गतिशील नेतृत्व में नई ऊंचाईयां छू रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने प्रदेश में सड़क सुविधा को सुदृढ़ करने के लिए राज्य में 69 राष्ट्रीय उच्च मार्ग स्वीकृत किए हैं।

    इस अवसर पर जुब्बल-कोटखाई भाजपा मण्डल अध्यक्ष श्री गोपाल जरैक ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्यों का स्वागत किया।

    चौपाल के विधायक श्री बलबीर वर्मा, पूर्व विधायक एवं राज्य सहकारिता बैंक के अध्यक्ष श्री खुशी राम बालनाहटा, शिमला नगर निगम की महापौर श्रीमती कुसुम सदरेट, मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री शिशु धर्मा, राज्य खादी बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री पुरूषोत्तम गुलेरिया, पर्यटन विभाग के निदेशक श्री सुदेश मोक्टा, उपायुक्त श्री अमित कश्यप, पुलिस अधीक्षक श्री ओमापति जमवाल भी इस अवसर पर अन्य गणमान्य सहित उपस्थित थे।

    संख्याः 800/2018-पब       शिमला            20 जून, 2018

     

    मुख्यमंत्री ने किए करोड़ों रुपये की लोकार्पण व शिलान्यास

    ऽकोटखाई उत्सव को जिला स्तरीय दर्जाः मुख्यमंत्री

    राज्य सरकार प्रदेश की पर्यटन क्षमता का पूर्ण दोहन करके हिमाचल प्रदेश को विश्व का पसन्दीदा पर्यटन गंतव्य बनाने के लिए वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर आज शिमला जिले के कोटखाई में ‘कोटखाई उत्सव’ के समापन समारोह के अवसर पर सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेले व त्यौहार हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के अभिन्न अंग हैं और हमें अपनी संस्कृति पर गर्व होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि विपक्ष के कुछ नेता राज्य की संस्कृति और परम्पराओं के प्रति उनके स्नेह और सम्मान को पचा नहीं पा रहे हैं, जो संस्कृति और रीति-रिवाजों को लेकर उनकी अज्ञानता को दर्शाता है। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सप्ताह में तीन दिनों के लिए शिमला से चण्डीगढ़ तथा वापिस हैली टैक्सी सेवा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार का हैलीकॉप्टर उपलब्ध करवाया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सैलानियों की सुविधा के लिए राज्य सरकार का हैलीकॉप्टर प्रदान करने वाला देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि सरकार सैलानियों की सुविधा के लिए राज्य के अन्य भागों के लिए भी हैली टैक्सी सेवा शुरू करने के प्रयास कर रही है।

    श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने वर्तमान पांच महीनों के कार्यकाल के दौरान राज्य के लोगों की आपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए कड़ी मेहनत की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अनेक कल्याणकारी तथा विकासात्मक योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दरियादिली के कारण पांच माह के छोटे से कार्यकाल के दौरान केन्द्र सरकार से 4365 करोड़ रुपये की परियोजनाएं तथा योजनाएं स्वीकृत करवाने में सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पूर्व सरकार राज्य के लिए एक मात्र विकास परियोजना की स्वीकृति तक करवाने में असफल रही। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने प्रत्येक कालेज के लिए मात्र एक लाख रुपये के प्रावधान के साथ 16 महाविद्यालय खोलने की घोषणाएं की। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि पेयजल आपूर्ति योजनाओं के लिए ब्रिक्स के अन्तर्गत विधानसभा क्षेत्र की 27 पंचायतों के लिए 55 करोड़ रुपये की परियोजनाएं तैयार की गई हैं। उन्होंने हाटकोटी मन्दिर परिसर के सौन्दर्यीकरण के लिए 5 करोड़ रुपये की घोषणा की। उन्होंने कोटखाई के लिए लोक निर्माण विभाग का मण्डल, कोटखाई के लिए महाविद्यालय, कोटखाई विकास भवन के लिए एक करोड़ रुपये, सरस्वती नगर महाविद्यालय में चार विषयों में स्नातकोत्तर कक्षाएं आरम्भ करने, अटल बिहारी वाजपेयी इंजीनियरिंग कालेज प्रगति नगर में पाठ्यक्रम बढ़ाने, सरस्वती नगर में मल निकासी योजना के लिए 4 करोड़ रुपये तथा नावर क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति में सुधार के लिए 2.11 करोड़ रुपये की घोषणाएं की। 

    मुख्यमंत्री ने कोटखाई उत्सव को जिला स्तरीय दर्जा प्रदान करने की घोषणा की। 

    श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि उन्होंने सुनिश्चित बनाया है कि विकास के मामले में राज्य के प्रत्येक क्षेत्र को इसका वाजिब हिस्सा मिले। उन्होंने कहा कि इस छोटी सी अवधि के दौरान उन्होंने क्षेत्रों के विकास के लिए 45 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि देश को प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी का मिलना वरदान है, क्योंकि भारत ‘विश्व नेता’ के रूप में उभर रहा है।

    इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने सरस्वती नगर के मौजूदा खेल मैदान में अन्य सम्बद्ध कार्यों सहित 400 मीटर सिंथेटिक ट्रैक की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि टै्रक का निर्माण 12.50 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा तथा धर्मशाला और बिलासपुर के बाद राज्य का यह तीसरा िंसंथेटिक ट्रैक होगा। उन्होंने कहा कि यह ट्रैक क्षेत्र के युवाओं को विश्व स्तर की खेल सुविधाएं प्रदान करेगा।

    मुख्यमंत्री ने खड्डा पत्थर स्थित गिरी गंगा रिसार्ट में 77 लाख रुपये की लागत से निर्मित पर्यटन स्वागत केन्द्र एवं टै्रकिंग होस्टल तथा पार्किंग का लोकार्पण किया। इस परिसर में तीन डब्बल बैड रूम, 200 लोगों की क्षमता का बैंकट हॉल, पर्यटन सूचना कार्यालय इत्यादि हैं। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र में पर्यटन विकास को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में पर्यटन की आपार संभावना है और राज्य सरकार इसके दोहन के लिए वचनबद्ध है।

    श्री जय राम ठाकुर ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मण्डल जुब्बल के अन्तर्गत  6.28 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना दरकोटी-गवारग का ‘भूमि पूजन’ किया। इस योजना से क्षेत्र की 4 पंचायतों के 21 गावों को सिंचाई सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। उन्होंने 2.53 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले बस अड्डा कोटखाई का भूमि पूजन किया। 

    मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सोराब तथा गौरव गांगटा को सम्मानित किया।

    इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री ने प्रगति नगर में 9.88 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले श्री अटल बिहारी वाजपेयी राजकीय इंजीनियरिंग एवं तकनीकी संस्थान के सभागार की आधारशिला रखी। उन्होंने 4.26 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले महिला छात्रावास भवन तथा संस्थान में 7.04 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ग्रामीण आजीविका एवं उत्पादन केन्द्र की भी आधारशिलाएं रखीं।

    इससे पूर्व, मुख्यमंत्री व उनकी धर्मपत्नी डा. साधना ठाकुर ने हाटकोटी स्थित प्रसिद्ध श्री हाटेश्वरी मन्दिर में पूजा अर्चना की। 

    मुख्यमंत्री का सरस्वती नगर पहुंचने तथा कोटखाई व प्रगति नगर के बीच विभिन्न स्थानों पर लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। क्षेत्र के विभिन्न सांस्कृतिक, सामाजिक तथा राजनीतिक संगठनों ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का अभिनन्दन किया।

    उद्योग व तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने राज्य के विकास को नई दिशा प्रदान की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रस्तुत किए गए पहले बजट में 30 नई योजनाएं हैं, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि राज्य के युवाओं को रोजगार तथा स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए राज्य में मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना शुरू की गई है।

    स्थानीय विधायक श्री नरेन्द्र बरागटा ने अपने गृह निर्वाचन क्षेत्र में पधारने पर मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में विकास के मामले में क्षेत्र की अनदेखी हुई है।

    उन्होंने क्षेत्र में करोड़ों रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सिंथैटिक टै्रक  क्षेत्र के युवाओं को अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करने के लिए वरदान साबित होगा, जिससे वे अपने घर के समीप अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं प्राप्त कर सकेंगे।

    उन्न्होंने कहा कि  मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में प्रदेश देश का सबसे विकसित राज्य बनने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कार्यभार संभालते ही वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने के लिए बिना किसी आय सीमा के आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया है। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से 1.30 लाख से भी अधिक वृद्धजनों को लाभ मिला है। उन्होंने कार्यभार संभालने के उपरांत ठियोग-हाटकोटी-रेहड़ू सड़क के निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए 7 करोड़ रुपये प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि इस राशि से सेब उत्पादन वाले क्षेत्र की जीवन रेखा कहलाने वाली यह मुख्य सड़क पूर्ण होने की कगार पर है। उन्होंने क्षेत्र की अन्य मांगों बारे भी विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने मुख्यमंत्री से पर्यटन की दृष्टि से क्षेत्र के विकास की संभावनाओं को तलाशने का भी आग्रह किया।

    सांसद प्रो. वीरेन्द्र कश्यप ने कोटखाई उत्सव के अवसर पर लोगों को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर के गतिशील नेतृत्व में नई ऊंचाईयां छू रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने प्रदेश में सड़क सुविधा को सुदृढ़ करने के लिए राज्य में 69 राष्ट्रीय उच्च मार्ग स्वीकृत किए हैं।

    इस अवसर पर जुब्बल-कोटखाई भाजपा मण्डल अध्यक्ष श्री गोपाल जरैक ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्यों का स्वागत किया।

    चौपाल के विधायक श्री बलबीर वर्मा, पूर्व विधायक एवं राज्य सहकारिता बैंक के अध्यक्ष श्री खुशी राम बालनाहटा, शिमला नगर निगम की महापौर श्रीमती कुसुम सदरेट, मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री शिशु धर्मा, राज्य खादी बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री पुरूषोत्तम गुलेरिया, पर्यटन विभाग के निदेशक श्री सुदेश मोक्टा, उपायुक्त श्री अमित कश्यप, पुलिस अधीक्षक श्री ओमापति जमवाल भी इस अवसर पर अन्य गणमान्य सहित उपस्थित थे।

    Read More
  • मुख्यमंत्री से पांगी भाजपा मण्डल के प्रतिनिधिमण्डल की भेंट
    मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर से आज यहां जिला चम्बा के पांगी भाजपा मण्डल के प्रतिनिधिमण्डल ने विधानसभा उपाध्यक्ष श्री हंस राज शर्मा के नेतृत्व में भेंट की तथा क्षेत्र के लोगों की विभिन्न मांगों से अवगत करवाया।
     
     मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि प्रतिनिधिमण्डल की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा।
     
    पांगी भाजपा मण्डल के जिला अध्यक्ष श्री मान सिंह शर्मा, आई.टी. सैल चीफ श्री विजय शर्मा, महा सचिव श्री रविन्द्र ठाकुर भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
     
    Read More
  • सरकार विद्यार्थियों को प्रदेश में बेहतर कोचिंग सुविधा प्रदान करेगी : मुख्यमंत्री

    प्रदेश सरकार राज्य के लोगों को प्रभावी, पारदर्शी व उत्तरदायी प्रशासन सुनिश्चित बनाने के लिए न्यूनतम सरकार व अधिकतम सुशासनके संकल्प के साथ कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर आज यहां संकल्प जन विकास शिक्षा समिति ट्रस्ट चंडीगढ़ द्वारा आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर बोल रहे थे।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा व अन्य सेवाओं में प्रवेश पाने  के लिए कड़ी मेहनत, समर्पण व परिवार के सदस्यों के सहयोग की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि हमें लोगों के प्रति दयालु होना चाहिए और जीवनभर उनके जीवन से सीखने के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें समाज के कल्याण के लिए समर्पण की भावना से कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि संकल्प ट्रस्ट संस्कृति व रीति-रिवाजों को बढ़ावा देने के लिए सराहनीय कार्य कर रहा है।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि अखिल भारतीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार करने के लिए राज्य सरकार ने हिमाचली विद्यार्थियों को प्रदेश व अन्य राज्यों में मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत वजीफा/प्रशिक्षण प्रदान करने का निर्णय लिया है, जिसके लिए वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान पांच करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

    उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शिमला में संकल्प केन्द्र आरम्भ करने के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध करवाएगी।

    उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षा क्षेत्र को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान कर रही है और वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान शिक्षा क्षेत्र के लिए 7044 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है।

    उन्होंने संकल्प जन विकास शिक्षा समिति ट्रस्ट चंडीगढ़ द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा परीक्षा में चयनित तीन हिमाचली विद्यार्थियों के सम्मान के लिए आयोजित कार्यक्रम के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने सफल उम्मीदवारों को बधाई दी तथा उनके सफल जीवन व उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

    मुख्यमंत्री ने महन्त सूर्यनाथ जी महाराज को ऋषि सम्मान, डॉ. पी.सी. नेगी को गुरू सम्मान व इंजीनियर सुनील ग्रोवर तथा प्रो.बृज शर्मा को सम्मानित किया।

    मुख्यमंत्री ने सातवीं अखिल भारतीय रैंकिंग के लिए श्री आयुष सिन्हा, 32वें रैंक प्राप्त अभिषेक वर्मा, सुश्री चारू शर्मा, श्री निशांत शर्मा, सुश्री शिखा शर्मा तथा प्रियंका त्यागी को भी सम्मानित किया। इन सभी उम्मीदवारों ने संकल्प के दिशा-निर्देश में यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की है।

    डॉ. संतोष कुमार तनेजा ने इस अवसर पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि संकल्प के साथ सम्बद्ध 621 उम्मीदवारों ने इस वर्ष यूपीएससी परीक्षा में चयनित हुए हैं।

    राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह संघ संचालक श्री राज कुमार वर्मा ने मुख्यमंत्री तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया।

    संकल्प जन विकास शिक्षा समिति ट्रस्ट चंडीगढ़ के अध्यक्ष चरणजीत रॉय ने इस अवसर पर संस्थान की विभिन्न गतिविधियों बारे विस्तृत जानकारी दी।

    मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी डॉ. साधना ठाकुर, शिक्षा मंत्री श्री सुरेश भारद्वाज, शहरी विकास मंत्री श्रीमती सरवीण चौधरी, नगर निगम शिमला की महापौर श्रीमत कुसुम सदरेट, मुख्य सचिव श्री विनीत चौधरी, अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉत्र श्रीकांत बाल्दी, सुप्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता प्रो. वीर सिंह रंगरा, श्री राज कुमार भाटिया व अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।

    .0.

    Read More
  • मुख्यमंत्री नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में हुए सम्मिलित
    • प्रदेश के 5 जिलों को राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत लाया गयाः मुख्यमंत्री

    मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर आज नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आयोजित नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में सम्मिलित हुए।

    मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में आरम्भ की गई विभिन्न पहलों, जिनमें कृषि क्षेत्र का विकास व वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करना, इलैक्ट्रॉनिक राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम), मृदा स्वास्थ्य कार्ड, मनरेगा, आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन, राष्ट्रीय पोषण मिशन, मिशन इन्द्रधनुष, स्पेशल डिवेल्पमेंट नीड्स ऑफ एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट्स, महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती को मनाने के लिए सुझाव, जीएसटी अधिनियम, जैम पोर्टल, भीम ऐप तथा आधार और राज्य स्तर पर उपलब्ध विभिन्न अनटाइड निधि का उपयोग करना शामिल है तथा विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत की जा रही प्रगति से अवगत करवाया।

    जय राम ठाकुर ने प्रधानमंत्री को बताया कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) के अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2015-16 तथा 2016-17 के लिए 343.12 करोड़ की केन्द्रीय सहायता अभी लम्बित है। उन्होंने कहा कि जल संसाधन मंत्रालय ने पीएमकेएसवाई के अन्तर्गत निधि के लिए वर्ष 2016-17 में 99 सिंचाई परियोजनाओं को प्राथमिकता दी है, हालांकि सभी शर्ते पूरी करने के बावजूद इस सूची में हिमाचल प्रदेश  की एक भी योजना शामिल नहीं है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने आग्रह किया है त्वरित सिंचाई लाभ योजना (एआईबीपी) के अन्तर्गत निधि के लिए 156.31 करोड़ रुपये की मध्यम सिंचाई परियोजना नादौन और 204.51 करोड़ रुपये की फिना सिंह सिंचाई परियोजना को इस सूची में शामिल किया जाए क्योंकि इन योजनाओं में सभी शर्ते पूरी की गई है।

    मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अन्तर्गत लम्बित निधि को शीघ्र जारी करने का आग्रह किया तथा कहा कि इन दोनों सिंचाई परियोजनाओं को 99 प्राथमिकता परियोजनाओं की सूची में शामिल किया जाए, जिससे किसानों की आय में वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसानों की आय को बढ़ाने के लिए वर्तमान वर्ष में 9 योजनाओं को कार्यान्वित करेगी।

    उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सिंचाई के लिए पानी की कमी झेल रहे प्रदेश के पांच जिलों के लिए 4751 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से जल संरक्षण एवं प्रबन्धन का एक प्रस्ताव भी तैयार किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस मामले को किसी बाहरी एजेंसी के माध्यम से निधि के लिए केन्द्र के समक्ष उठाया है। उन्होंने बताया कि बागवानी को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 2022 तक 10 लाख नए पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

    मुख्मयंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिए स्वास्थ्य में सहभागिता योजना, मुख्यमंत्री निरोग योजना, मुख्यमंत्री आशीर्वाद योजना तथा मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता कोष जैसी नई याजनाओं को कार्यान्वित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय एम्बुलेंस सेवा के माध्यम से 10 लाख से भी अधिक लोग लाभान्वित हुए हैं तथा संस्थागत प्रसव की दर 50 से बढ़कर 80 प्रतिशत हुई है। उन्हांने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत राष्ट्रीय एम्बुलेंस सेवा 108 के लिए निधि 2080 के अनुपात से प्रदान जा रही है, जिसमें 20 प्रतिशत केन्द्र तथा 80 प्रतिशत हिस्सा प्रदेश प्रदान कर रहा है। उन्होंने प्रदेश की कठिन भौगोलिक स्थितियों के मद्देनजर 9010 के अनुपात के अनुसार वित्तीय सहायता के लिए आग्रह किया।

    श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण मिशन के अन्तर्गत चम्बा, हमीरपुर, सोलन, शिमला और ऊना जिलों को लाया गया है तथा प्रदेश सरकार इस कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिए आवश्यक पदों को भरने के प्रयास कर रही है। भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार प्रदेश सरकार मुख्यालय स्तर से जुड़े पदों का 21 करोड़ रुपये का वित्तीय भार उठाएगी। उन्होंने केन्द्र से राज्य के हित में इस निर्णय की समीक्षा करने का आग्रह किया ताकि कार्यक्रम के अन्तर्गत लक्ष्यों को शीघ्र हासिल किया जा सके।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि स्पेशल डिवेल्पमेंट नीड्स ऑफ एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट्सके अन्तर्गत जिला चम्बा को चिन्हित किया गया है तथा जिला प्रशासन ने जिले के एकीकृत विकास के लिए तीन वर्षीय विस्तृत कार्य योजना तैयार की है, जिसे केन्द्र सरकार को सौंपा गया है।

    उन्होंने बैठक में बताया कि गत वित्तीय वर्ष के दौरान जैम पोर्टल को क्रियाशील बनाया गया है तथा अभी तक 15.88 करोड़ रुपये की वित्तीय लेन-देन किए गए, जबकि भीम ऐप के माध्यम से 658 करोड़ रुपये के लेन-देन किए गए हैं। उन्होंने बताया कि गत वर्ष आधार के माध्यम से 34 योजनाओं के अन्तर्गत 1067 करोड़ रुपये के प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण किए गए हैं।

    अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी भी बैठक में उपस्थित थे।

    .0.

    Read More
  • मुख्यमंत्री ने किया 250 बिस्तरों वाले हमीरपुर आयुर्विज्ञान महाविद्यालय का शिलान्यास
    • प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में होगा सुधारः जे.पी. नड्डा

    मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने आज केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जे.पी. नड्डा की उपस्थिति में डॉ. राधाकृष्णन राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय हमीरपुर के 250 बिस्तरों वाले अस्पताल का शिलान्यास किया। उन्होंने डॉ. राधाकृष्णन राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय हमीरपुर के आवासीय खण्ड का लोकार्पण तथा गांव थाई में मेडिकल कॉलेज के परिसर का ऑनलाइन शिलान्यास भी किया।

    आयुर्विज्ञान महाविद्यालय के भवन का निर्माण 206 करोड़ रुपये से किया जाएगा, जबकि आवासीय खण्ड के निर्माण पर 1.91 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

    इस अवसर पर एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन जिला हमीरपुर के लिए ऐतिहासिक दिन है क्योंकि बहुप्रतीक्षित आयुर्विज्ञान महाविद्यालय का लोकार्पण किया गया तथा प्रदेश के इस छठें आयुर्विज्ञान महाविद्यालय में एमबीबीएस के छात्रों के लिए 100 सीटें होंगी। आयुर्विज्ञान महाविद्यालय निकट के लगभग चार जिलों के लोगों को श्रेष्ठ स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाएगा।

    उन्होंने कहा कि राज्य सरकार केन्द्रीय सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश को उदार वित्तीय सहायता तथा प्रदेश की सभी मांगों को पूरा करने के लिए हमेशा आभारी रहेगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र के सहयोग से राज्य में स्वास्थ्य तथा अन्य क्षेत्रों में क्रांति स्तर पर प्रगति हुई है। पूर्व सरकार ने लोगों को केवल स्वप्न दिखाए तथा खोखले वायदे किए, लेकिन वर्तमान सरकार स्वप्नों को पूरा करने में विश्वास रखती है तथा पांच माह के अल्पकाल में जमीनी स्तर पर जनता द्वारा परिणामों को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है।

    श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधि सदैव केन्द्र सरकार के समक्ष प्रदेश के मुद्दों को प्रभावी ढंग से उठाने में विफल रहे है, जबकि भाजपा के सांसदों ने प्रदेश में रेलवे विस्तार, राष्ट्रीय उच्च मार्गों का निर्माण, स्वास्थ्य अधोसंरचना का सुदृढ़ीकरण, आईआईआईटी, केन्द्रीय विश्वविद्यालय तथा अन्य संस्थान आदि की स्थापना जैसे मुद्दों को लगातार उठाया है तथा केन्द्र ने इन सभी मांगों को स्वीकार किया है।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार नई सोच के साथ कार्य कर रही है तथा हिमाचल प्रदेश को विकास व समृद्धता की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए नई पहलों पर कार्य आरम्भ कर दिया है।

    उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकारी क्षेत्र में छह तथा निजी क्षेत्र में एक आयुर्विज्ञान महाविद्यालय के खुलने से लगभग 750 चिकित्सक उपलब्ध होंगे, जिससे प्रदेश में विशेषज्ञों व चिकित्सा अधिकारियों की मांग को पूरा करने में सहायता मिलेगी।

    स्थानीय प्रतिनिधियों की मांग पर मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि हमीरपुर शहर में बस अड्डा, इंडोर स्टेडियम व पार्किंग के निर्माण की संभावनाएं तलाशी जाएंगी। उन्होंने आश्वासन दिया कि वरिष्ठ नागरिक परिषद हमीरपुर के भवन के निर्माण के लिए भी सरकार पूर्ण सहयोग प्रदान करेगी।

    केन्द्रीय मंत्री जे.पी. नड्डा ने कहा कि भारत सरकार हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए पहले से ही तैयार है तथा कम आबादी होने के बावजूद भी प्रदेश को चार आयुर्विज्ञान महाविद्यालय, एम्ज व अन्य विभिन्न चिकित्सा संस्थान प्रदान किए गए हैं, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में भी स्वास्थ्य अधोसंरचना को सुदृढ़ करने में सहायता मिलेगी।

    उन्होंने कहा कि प्रदेश के आठ जिलों में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध है तथा अब किडनी रोगियों को डायलिसिस के लिए पीजीआई चंडीगढ़ व अन्य स्थानों पर जाने की आवश्यकता नहीं है। भारत सरकार ने प्रदेश में आईजीएमसी शिमला व टांडा मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशियलिटी खण्डों, ऊना, सुन्दरनगर, बिलासपुर, मण्डी, घुमारवीं, कांगड़ा, चम्बा तथा नूरपुर में मातृ व शिशु स्वास्थ्य केन्द्रों के अतिरिक्त मण्डी में टर्शरी कैंसर केन्द्र सहित विभिन्न स्वास्थ्य परियोजनाएं प्रदान की हैं।

    उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने देश में महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत कार्यक्रम को आरम्भ किया है, जिसके अन्तर्गत विभिन्न गंभीर रोगों के ईलाज के लिए 55 करोड़ लोगों को पांच लाख रुपये सालाना का बीमा प्रदान किया जा रहा है।

    केन्द्रीय मंत्री ने आश्वासन दिया कि हमीरपुर आयुर्विज्ञान महाविद्यालय परिसर में मातृ व शिशु स्वास्थ्य केन्द्र तथा नर्सिंग अस्पताल स्थापित करने की मांग पर निकट भविष्य में विचार किया जाएगा।

    इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री प्रेम कुमार धूमन ने हिमाचल प्रदेश को विभिन्न विकासात्मक पहलों के लिए उदार सहायता प्रदान करने के लिए भारत सरकार का धन्यवाद व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने सदैव प्रदेश की मांगों पर विचार किया है तथा निकट भविष्य में प्रदेश को और अधिक बड़ी परियोजनाएं प्रदान की जाएगी।

    स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के लोगों को श्रेष्ठ स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश सरकार सुनिश्चित कर रही है कि लोगों की सुविधा के लिए प्रत्येक स्वास्थ्य संस्थान में चिकित्सक उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चिकित्सा अधिकारियों के 272 पद तथा दंत चिकित्सकों के 52 पद भरे गए हैं तथा शीघ्र ही आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारियों के 200 पद, नर्सों के 1007 तथा पैरा मेडिकल स्टाफ के 2000 पद भरे जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डायलिसिस की सुविधा 12 स्थानों पर आरम्भ की गई है।

    सांसद अनुराग ठाकुर ने हमीरपुर में आयुर्विज्ञान महाविद्यालय प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री तथा केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने जिला बिलासपुर में एम्ज तथा जिला ऊना में पीजीआई सैटेलाइट केन्द्र स्वीकृत करने के लिए भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने केन्द्र सरकार का प्रदेश में आईआईआईटी, इंजीनियरिंग कॉलेज, केन्द्रीय विश्वविद्यालय, मेडिकल कॉलेज व अनेक अन्य संस्थानों तथा केवल हमीरपुर संसदीय क्षेत्र को ही 25 राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्रदान करने के लिए आभार व्यक्त किया।

    स्थानीय विधाक नरेन्द्र ठाकुर ने इस अवसर पर धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया तथा मुख्यमंत्री का क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण, सड़कों की देखभाल तथा सिंचाई एवं पेयजल आपूर्ति योजनाओं को आरम्भ करने को प्राथमिकता प्रदान करने के लिए आभार व्यक्त किया।

    ग्रामीण विकास व पंचायती राज मंत्री वीरेन्द्र कंवर, विधायक सुभाष ठाकुर, राजेन्द्र गर्ग और कमलेश कुमारी, पूर्व विधायक बलदेव शर्मा व विजय अग्निहोत्री, हमीरपुर जिला के भाजपा अध्यक्ष अनिल शर्मा, मुख्यमंत्री के ओएसडी वीरेन्द्र धर्मांणी, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रोहित सावल, अतिरिक्त मुख्य सचिव बी.के. अग्रवाल व डॉ. श्रीकांत बाल्दी, निदेशक मेडिकल शिक्षा डॉ. अशोक तथा प्रदेश सरकार के अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

    .0.

    Read More
  • धर्म और संस्कृति का संरक्षण प्रत्येक व्यक्ति की जिम्मेवारी : मुख्यमंत्री

    मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने आज मण्डी जिले के उपमण्डल जोगेन्द्रनगर के लदरोही में श्री राम कृष्ण आश्रम में महंत गोविन्द दास जी की प्रथम पुण्य तिथि पर उनकी मूर्ति का अनावरण किया।

    इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि महंत गोविन्द दास जी का स्थल को विकसित कर इसके सौंदर्यीकरण तथा लोगों की सेवा में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि वह निःस्वार्थ रूप से लोगों की सेवा के लिये महंत के आभारी हैं।

    उन्होंने कहा कि धर्म के प्रति कम हो रही लोगों की आस्था चिंता की बात है और अध्यात्मिक गुरूओं को धर्म व मूल्यों के प्रचार-प्रसार के लिये निःस्वार्थ भाव से आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी के इस युग में हम अपनी परम्पराओं और संस्कृति को कहीं न कहीं पीछे छोड़ रहे हैं और अपने जीवन को भौतिकतावाद के चंगुल में धकेल रहे हैं, जो कदापि सही नहीं है। उन्होंने कहा कि धर्म और संस्कृति को बचाना तथा इसे आगे बढ़ाना प्रत्येक की जिम्मेवारी है, जिससे हम आने वाली पीढ़ियों को संस्कारयुक्त विरासत दे सकेंगे।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज में नैतिक कार्य करना, दूसरों का सम्मान करना, बुजुर्गों की सेवा करना और समर्पण भाव से अपने दायित्वों का निर्वहन करना ही धर्म है और यही बात हमें अपनी भावी पीढ़ियों को समझानी है।

    श्री जय राम ठाकुर ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओअभियान को जन-जन तक ले जाने की अपील की। उन्होंने कहा कि बेटियों की घरों व परिवारों में ही नहीं, बल्कि बेहतर समाज की परिकल्पना को साकार बनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका है। आज बेटियां समाज के प्रत्येक क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रही हैं।

    सांसद श्री राम स्वरूप शर्मा, स्थानीय विधायक श्री प्रकाश राणा तथा महामण्डलेश्वर रामानंद हंस देवाचार्य ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए।

    बहुद्देशीय परियोजनाएं एवं ऊर्जा मंत्री श्री अनिल शर्मा, पूर्व मंत्री श्री गुलाब सिंह ठाकुर, श्री रामसरण जी महाराज, श्री राम मोहन दास सहित अन्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

    .0.

    Read More
Features View All फ़ीचर सभी देखें
Latest Video FootageView Allनवीनतम वीडियो फुटेजसभी देखें
Departments Productions View All विभाग प्रोडक्शंससभी देखें
Latest News PhotographsView Allनवीनतम समाचार फोटोसभी देखें
Digital Photo LibraryView All डिजिटल फोटो गैलरीसभी देखें
You Are Visitor No.हमारी वेबसाइट में कुल आगंतुकों 6263855

Nodal Officer: UC Kaundal, Dy. Director (Tech), +919816638550, uttamkaundal@gmail.com

Copyright ©Department of Information & Public Relations, Himachal Pradesh.
Best Viewed In Mozilla Firefox